Thursday, 5 September 2019

20 legal rights that every Indian should know, 20 ऐसे कानून जो हर भारतीय को जानने जरूरी है ?

हेलो दोस्तो कैसे हो आप सब , मैं फिर से हाज़िर हु, आप लोगो की सेवा मैं, दोस्तो आज मैं आप लोगो को ऐसी बात बताऊंगा , जो शायद ही आप लोगो को पता हो, आज मैं आप लोगो को 20 ऐसे कानून बताऊंगा जिन्हें जानना आप लोगो के लिए बहुत जरूरी है,


• ड्राइविंग करते समय यदि आपके खून मैं अल्कोहल का  लेवल 30mg से ज्यादा मिलता है तो पुलिस बिना वारंट आपको गिरफ्तार कर सकती है।

  मोटर वाहन एक्ट, 1988, सेक्शन-185,202  



•किसी भी महिला को शाम 6 बजे के बाद ओर सुबह 6 बजे से पहले गिरफ्तार नही किआ जा सकता है। 

आपराधिक प्रकिर्या संहिता, सेक्शन46  



•पुलिस अफसर FIR लिखने से मना नही कर सकता, ऐसा करने पर उन्हें 6 महीने से 1 साल तक कि जेल हो सकती है।  

भारतीय दंड संहिता, 166, A  



•कोई भी होटल चाहे वो 5 स्टार ही क्यों न हो, आपकी फ्री मैं पानी पीने और वॉशरूम का इस्तेमाल करने से नही रोक सकता है।

 भारतीय सरिउस अधिनियम1887 

 



• कोई भी शादीशुदा व्यक्ति किसी अविवाहित लड़की या विधवा महिला से उसकी सहमति से शारीरिक संबंध बना सकता है, ये अपराध की श्रेणी मैं नही आता हूं। 

भारतीय दंड संहिता व्यभिचार, धारा 498



•  यदि दो वयस्क लड़का या लड़की अपनी मर्ज़ी से लिव इन रिलैशन मैं रहना चाहते है तो यह गैर कानूनी नही है, ओर अगर इनसे पैदा होने वाली संतान भी गैर कानूनी नही है और संतान की अपने पिता की संपत्ति मैं हक भी मिलेगा। 

घरेलू हिंसा अधिनियम, 2005 



 •एक पुलिस अधिकारी हमेशा ही अपनी ड्यूटी पर होता है, चाहे उसने यूनिफार्म पहनी हो या नही। यदि कोई व्यक्ति इस अधिकारी से कोई शिकायत करता है तो वह यह नही कह सकता कि वह पीड़ित की मदद नही कर सकता क्योंकि वह डयूटी पर नही है। 

पुलिस एक्ट, 1861  

 


•कोई भी कंपनी गर्भवती महिला को नौकरी से नहीं निकाल सकती ऐसा करने पर उसे ज्यादा से ज्यादा 3 साल की सजा हो सकती है।

 मातृत्व लाभ अधिनियम, 1961 

 


• टेक्स उलंघन के मामले मे, कर वसूली अधिकारी को आपकी गिरफ्तार करने का अधिकार है लेकिन गिरफ्तार करने से पहले उसे आपको नोटिस भेजना पड़ेगा। केवल टेक्स कमिश्नर यह फैसला करता है कि आपको कितनी देर तक हिरासत मैं रहना है।

 आयकर अधिनियम,1961 



• तलाक निम्न आधारों पर लिया जा सकता है, हिन्दू मैरिज एक्ट के अनुसार कोई भी ( पति या पत्नी ) कोर्ट मे तलाक के लिए अर्जी दी सकता है, व्यभिचार ( शादी के बाहर शारीरिक रिश्ता बनाना ), शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना, नपुंसकता, बिना बताए घर छोड़ कर जाना , हिन्दू धर्म छोडकर कोइबोर धर्म अपनाना, पागलपन, लाइलाज़ बीमारी, वैराग्य लेने और सात साल तक कोई आता पता न हिने के आधार पर तलाक की अर्जी दाखिल की जा सकती है। 

हिन्दू मैरिज एक्ट , धारा-13



•  मोटर वाहन अधिनियम की धारा 129 मैं वाहन चालकों को हेल्मेट लगाने का प्रावधान है, मोटर वाहन अधिनियम की धारा 128 मैं बाइक पर दो व्यक्ति को बैठने का प्रावधान हौ, लेकिन ट्रैफिक पुलिस के द्वारा गाडी या मोटरसाइकिल से चाबी निकालना बिल्कुल ही गैर कानूनी है इसके लिए आप चाहे तो उस कॉन्स्टेबल अधिकारी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी कर सकते है। 

मोटर वाहन अधिनियम   



•केवल महिला पुलिस ही महिलाओं को ग्रिफ्तार कर थाने ले सकती है, पुरूष पुलिसकर्मी को महिला को गिरफ्तार करने का अधिकार नही है, इतना ही नही महिलाएं शामक 6 बजे से सुबह के 6 बजे के बीच पुलिस स्टेशन जाने से मना कर सकती है, एक गम्भीर अपराध के मामले मे मजिस्ट्रेट से लिखित आदेश प्राप्त होने पर ही एक पुरूष पुलिसकर्मी किसी महिला को गिरफ्तार कर सकता है।

 दंड प्रकिर्या संहिता, 1973



•  बहुत ही कम लोग जानते है इस बात को , की अग़र उनका गैस सिलेंडर खाना बनाते समय या किसी भी कारणवश फट जाए तो आप जान माल की भरपाई के लिए गड कंपनी से 40 लाख रुपये तक कि सहायता के हकदार हो।

 


•  आपको ये जानकर हैरत होगी कि अगर आप किसी कंपनी से किसी त्योहार के मौके पर कोई गिफ्ट लेते है, तो यह रिस्वत की श्रेणी मैं आता है। इस जुर्म के लिए आपको सजा भी हो सकती है। 

विदेशी अंशदान नियमन अधिनियम (FCRA) 2010  



•अगर आपका किसी दिन चालान ( बिना हेलमेट के या किसी अन्य कारण से ) काट दिया जाता है तो फिर दोबारा उसी अपराध के लिए आपका चालान नही काटा जा सकता है।

 मोटर वाहन ( संशोधन) विधेयक, 2016 



• कोई भी दुकानदार किसी उत्पाद के लिए उस पर अंकित अधिकतम खुदरा मुल्य से अधिक रुपये नही मांग सकता है परंतु उपभोक्ता, अधिकतम खुदरा मुल्य से कम पर उत्पाद खरीदने के लिए दुकानदार से मोल भाव कर सकता है।  

अधिकतम खुदरा मुल्य अधिनियम, 2014



•  अगर आपका ऑफिस आपको सैलरी नही देता है तो आप उसके खिलाफ 3 साल के अंदर कभी भी रिपोर्ट कर सकते है। लेकिन अगर 3 साल के बाद  रिपोर्ट करते है तो आपको कुछ भी हासिल नही होगा।

 परिसीमा अधिनियम, 1963  




• अगर आप सार्वजनिक जगहों पर अश्लीलता पूर्ण  गतिविधि करते हुए पाए जाते है टॉपकि 3 महीने तक कि कैद भी हो सकती है। लेकिन " अश्लील" गतिविधि की कोई स्पष्ट परिभाषा नही हिने के कारण पुलिस इस कानून का दुरुपयोग करती है। 

भारतीय दंड संहिता धारा 294  

 

 

• अगर आप हिन्दू हो और आपके पास आपका पुत्र है, पोता है, या परपोता है, तो आप किसी दूसरे लड़के को गोद नही ले सकते है। साथ ही गोद लेने वाले व्यक्ति ओर गोद लियर जाने वाले बच्चे के बीच कम से कम 21 साल का अंतर होना जरूरी है। 

हिन्दू गोद लेना और रखरखाव अधिनियम, 1956

 


 • अगर आप दिल्ली मे रहते हो  तो आपका मकान मालिक आपको बिना नोटिस दिए जबरन मकान खाली नही करा सकता है। 

दिल्ली किराया नियंत्रण अधिनियम 1958, धारा 14  


                                                    । धन्यवाद ।


EmoticonEmoticon